advertisement

चलेगा अनुशासन का डंडा| ठनका माथा| जानिये क्या है मामला

Share this news

सिटी लाइव टुडे, मीडिया हाउस

संगठन विरोधी गतिविधियों को लेकर चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ चिकित्सा स्वास्थ्य सेवाएँ उत्तराखंड बेहद सख्त हो गया है। इसके चलते संगठन विरोधी कार्य करने वालों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई अमल में लायी जा रही है। तीन लोगांे पर संगठन विरोधी कार्य करने के आरोप लगे हैं। एक को तो पहले भी बर्खास्त किया जा चुका है जबकि मौके की नजाकत को देखते हुये एक ने पद से इस्तीफा भी दे दिया हैं। तीसरे के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी चल रही है। पिछले लंबे समय से चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ चिकित्सा स्वास्थ्य सेवाएँ उत्तराखंड मजबूती पर जोर देता आ रहा है।

architect-ad

ad12

मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में मुकांशी रघुवंशी, मनोज चंद, दीपक धवन, द्वारा जिसमे कि मनोज चंद कार्यालय मुख्य चिकित्सा अधिकारी संगठन से कर्मचारी विरोधी गतिविधियों और संगठन विरोधी गतिविधियों के कारण 6 वर्ष के लिए सदस्यता से बर्खास्त है मुकांशी रघुवंशी के द्वारा स्वयं संघ से इस्तीफा दिया गया है और दीपक धवन द्वारा प्रदेश उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया गया है जो स्वीकार करते हुए उनके विरुद्ध संघ विरोधी गतिविधियों के लिए अनुशासनात्मक कार्यवाही के लिए पत्र दिया गया है।
प्रदेश अध्यक्ष दिनेश लखेडा प्रदेश ऑडिटर महेश कुमार एवं वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष गिरीश पंत प्रदेश उपाध्यक्ष नेलसन अरोड़ा ने बताया कि संगठन द्वारा मनोज चंद, चपरासी, मुकांशी जो कि संगठन के सदस्य नहीं हंै उनके द्वारा आचार संहिता और कोविड काल में बिना मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिला निर्वाचन अधिकारी की अनुमति के बिना संयोजक मंडल का गठन किया गया जो कि असंवैधानिक है न ही संगठन द्वारा उन्हें मान्यता दी गई है इसकी जांच की जाए और साथ ही यह संगठन के सदस्य न होते हुए भी बिना अनुमति/अधिकारी को बिना किसी पूर्व सूचना के प्रदेश से बाहर हिमांचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरयाणा प्रदेश, आंदोलन धरना प्रदर्शन में जाते हैं जिसकी सूचना इनके द्वारा सोशल मीडिया पर डाली जाती है किंतु कार्यालय में इनकी सेटिंग इतनी जबरदस्त है कि इन पर कोई कार्यवाही नही की जाती है कार्यालय में समय से न जाना जल्दी भाग जाना इनकी आदत में शुमार हो गया है जिसकी जांच कराई जानी चाहिए इस संबंध में श्रीमान जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी महोदय को पत्र लिखा गया है और इनके विरुद्ध जांच की मांग की गई है।
जिला मंत्री राकेश भँवर,जिला ऑडिटर शीशपाल, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य राजेन्द्र तेश्वर ने कहा कि दीपक धवन, मनोज चंद, मुकांशी द्वारा कर्मचारियों को दबाव और बरगला कर संगठन को कमजोर करने की साजिश की जा रही है जिसे बर्दास्त नहीं किया जायेगा शीघ्र ही इनकी जांच न कि गयी तो इनके खिलाफ संघ को कानूनी कार्यवाही के लिए बाध्य होना पड़ेगा मनोज चंद चपरासी मुकांशी चपरासी द्वारा आचार संहिता के दौरान जब प्रदेश निर्वाचन आयोग और जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा किसी भी प्रतिनिधि जो चुनाव में विधायक प्रत्याशी हों उनसे सरकारी कर्मचारियों को मिलने की मनाही के बावजूद भी इनके द्वारा आचार संहिता के दौरान ज्ञापन दिया गया जो कि कर्मचारी आचरण नियमावली के विरुद्ध है इसलिये इनके विरुद्ध जांच कर कार्यवाही किये जाने की मांग संघ करता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.