advertisement

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने में महारूद्रा एजुकेशन इंस्टीट्यूट का प्रयास सराहनीय |विकास झा की रिपोर्ट

Share this news

हरिद्वार। नगर मजिस्ट्रेट अवधेश कुमार सिंह ने कहा कि महिलाओं के उत्थान में महारुद्रा एजुकेशन इंस्टीट्यूट का प्रयास काबिले तारीफ है। जिसमें महिलाओं को विभिन्न कोर्सों का प्रशिक्षण देकर आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है। महिलाएं प्रशिक्षण कोर्स पूरा करने के उपरांत रोजगार प्राप्त कर परिवारिक जिम्मेदारियों में अपना हाथ बंटा रही हैं। इसके लिए वें प्रबंध निदेशक मीनू चौधरी एवं उसके पति निशांत चौधरी को हार्दिक शुभकामनाएं देते हैं।


बताते चलें कि गुरुवार को महारुद्रा एजुकेशन इंस्टिट्यूट में छात्राओं को सर्टिफिकेट वितरित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित सिटी मजिस्ट्रेट अवधेश कुमार सिंह ने सभी छात्रों को प्रमाण पत्र देते हुए कहा कि महारुद्रा एजुकेशन इंस्टीट्यूट के प्रबंध निदेशक मीनू चौधरी ने समाज के सामने उदाहरण प्रस्तुत किया है। जिसमें उन्होंने पहले स्वयं को सक्षम बनाया और उसके बाद अन्य महिलाओं को भी आत्मनिर्भर बनाने का मार्ग तैयार किया। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर उपस्थित शिवली स्कूल की संस्थापक स्वामी शरद पुरी महाराज ने कहा कि शिक्षित व्यक्ति बेरोजगार नहीं हो सकता।

architect-ad

शिक्षित व्यक्ति के बेरोजगार होने पर शिक्षा पद्धति को ही दोषी माना जाएगा। इसलिए समय की मांग के अनुसार रोजगार पर शिक्षा देने पर ही जोर देना चाहिए। मीनू चौधरी ने कहा उनके इंस्टिट्यूट में सभी वर्ग के लोगों को समान रूप से प्रशिक्षण दिया जाता है।आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के बच्चों को निशुल्क प्रशिक्षण दिया जाता है। ऐसे बच्चों का खर्चा संस्थान की ओर से ही उठाया जाता है। उन्होंने कहा भारत सरकार के साथ महारुद्रा एजुकेशन इंस्टीट्यूट जैसे संस्थान भी लोगों को रोजगार परक शिक्षा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। कार्यक्रम की शुरुआत में डीआरएस चैरिटेबल ट्रस्ट के निदेशक निशांत चौधरी ने महारुद्रा एजुकेशन इंस्टिट्यूट का परिचय कराया।

ad12

उन्होंने कहा वर्ष 2014 से यह संस्था महिलाओं को फैशन डिजाइनिंग, ब्यूटीशियन, कुकिंग, सिलाई कढ़ाई, सहित अन्य विधाओं का प्रशिक्षण देकर आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में कार्य कर रही है। कार्यक्रम में साप्ताहिक समाचार पत्र उल्लेख का भी विमोचन किया गया। कार्यक्रम में रश्मि झा, हेमवती, रितिका, शहनाज, श्रुति, श्वेता, अंकिता, रिया, प्रिया, शीबा, नैना, शिवा, नंदिनी, सव्या सहित अन्य को सर्टिफिकेट दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.