advertisment

और जब हरीश रावत के आंखों से छलके आंसू | जानिये क्यों | विकास श्रीवास्तव की रिपोर्ट

Share this news

सिटी लाइव टुडे, मीडिया हाउस


पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत राजनीतिक तौर पर जितने मजबूत नेता हैं निजी तौर पर उतने ही भावुक व्यक्ति भी। कई मौकों पर उनका यह चेहरा साफ दिखाई दिया है। इस बार वह अपने ऊपर बने एक गीत को लेकर इतने भावुक हो गए कि उनकी आंखें छलछला गई। उनपर बना यह गीत खूब वायरल भी हो रहा है।

advertisment4

अल्मोड़ा जनपद में सल्ट के उन्हीं के नाम राशि ‘हरीश’ जोशी ने हरदा पर आठवां गीत ‘घर-घर गौं-गौं, हरदा छ तुमर नौ’ रचा गाया और उसे सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया। गीत में जोशी ने हरीश रावत के कार्यकाल की योजनाओं, नीतियों को गीत में पिरोया है। साथ ही उनकी पहचान उत्तराखंड के हर हिस्से में होने की बात कही है। कहा कि हरदा ने अपने समय में बहुत काम किए हैं।

सल्ट के हरीश के गीत को खुद हरदा ने भी अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट किया है। साथ ही गीत को मोबाइल पर सुनते हुए एक और वीडियो डाला। जिसमें वह कहते हैं कि उनपर लिखा यह आठवां गीत है। कहते हैं इस गीत को सुनकर उनकी आंखें डबडबा गई। इस गीत ने मेरे अंतर्मन को झकझोर दिया है।

ad12

बोले- कलाकारों की कलम से अगर उनके कार्यकाल को लेकर अगर कुछ निकल रहा है, तो यह मेरे चुनावी वायदों की विश्वसनीयता पर ही मुहर लगाता है। हरदा ने गीत में उनके कामों को सराहने पर हरीश जोशी ‘हरदा’ का आभार जताया है

Leave a Reply

Your email address will not be published.