tanejav1

कोविड काल में | खाकी के हौंसलों को “आक्सीजन ” देता एक गीत, पढ़िये पूरी खबर

adhirajv2

Share this news

आरक्षी ललिता रावत का लिखा यह गीत हो रहा है वायरल
सेंट मैरी स्कूल की संगीत शिक्षिका अरुणा ने किया है स्वरबद्ध
कोविड काल की व्यथा और खाकी के योगदान को बयां करता गीत

पुलिस महकमे ने की गीत की रचनाकार ललिता रावत की सराहना, कहा कि हमें ऐसे जवानों पर फक्र है
सिटी लाइव टुडे, मलखीतः-ए-रौथाण

advertisment


मिशन हौंसला ही संजीवनी बन रही है। कैसी अजब सी घड़ी आ पड़ी है, जीवन की हर राह पर मुसीबत खड़ी है
। ये ही उस गीत के बोल जो इन दिनों सोसल मीडिया में जबरदस्त वारयल हो रहा है। कोविड-काल की करूणा की व्यथा की कथा का बड़ा ही मार्मिक यह गीत खाकी की शान के कशिंदे गढ़ रहा है। जरूरतमंदों की सेवा में जुटी खाकी के हौंसलों को यह गीत आक्सीजन दे रहा है। कोविड-काल में फरिश्ते की भूमिका निभा रही खाकी के योगदान का यह गीत खाकी ने ही शब्दबद्ध किया है। जी हां, इस गीत के रचनाकार हैं महिला हेल्पलाइन ज्वालापुर में तैनात आरक्षी ललिता रावत। गीत को स्वरबद्ध किया है सेंट मैरी स्कूल की संगीत शिक्षिका अरुणा ने।

मिशन हौंसला ही संजीवनी बन रही है। गीत की रचनाकार आरक्षी ललिता रावत

अब जरा आपको विस्तार से बताते हैं। असल में महिला हेल्पलाइन शाखा, ज्वालापुर जनपद, हरिद्वार में तैनात महिला आरक्षी ललिता रावत संगीत प्रेमी भी हैं। उनके पति दिनेश रावत शिक्षा विभाग में हैं और वे भी उच्च कोटि साहित्यकार हैं। उनकी कई किताबें प्रकाशित भी हो चुकी हैं। आरक्षी ललिता रावत इससे पहले भी कई बार जज्बातों को शब्दों में ढाल चुकी हैं। इस बार भी उन्होंने कुछ ऐसा ही किया। जो देखा व महसूस किया उसे ही शब्दों की शक्ल दी और गीत बन गया।

इस गीत रचना की कहानी कुछ इस प्रकार बनी कि जब मिशन हौंसला गीत रचा गया तो इसके बाद आरक्षी ललिता रावत ने हरिद्वार स्थित सेंट मैरी स्कूल की संगीत शिक्षिका अरुणा से गीत के बारे में बताया। फिर क्या था संगीत शिक्षिका अरूणा ने अपनी मधुर आवाज से इस गीत को और भी निखार दिया। इसके बाद यह गीत सोसल मीडिया तक पहुंचा और जबरदस्त वायरल हो रहा है। गीत की रचनाकार ललिता रावत का यह गीत संगीत के नजरिये से भी एकदम जुदा है। गीत में शब्दों के जरिये भावों को उकेरने का जो प्रयास किया गया है वह सचमुच उनकी लेखन क्षमता को दर्शाता है। मुखडे से लेकर आंत्राओं में शब्द चयन और प्रयोग एकदम सटीक है जो इस बात को प्रमाणित करता है ललिता रावत के अंदर गीत की समझ कूट-कूट कर भरी है। इस इस गीत को हरिद्वार पुलिस के आफिसियल फेसबुक पेज पर अपलोड किया गया है। पुलिस ने ललिता रावत की जमकर प्रशंसा करते हुये हुये फेसबुक पर पेज ही लिखा है कि हरिद्वार पुलिस अपने ऐसे जवानों पर गर्व महसूस करती है जो औरों के सम्मुख उदाहरण प्रस्तुत करते हैं साथ ही जनपद पुलिस द्वारा किए गए कार्यों को गीत के माध्यम से पूरी संवेदनशीलता के साथ प्रस्तुत करने पर, पूरी टीम का आभार व्यक्त करती है। पुलिस की नौकरी, जीवन के झंझावात और उस पर ये गीत के बोल, मन को झंकृत करते हैं।

गीत की धार ऐसी हुयी और पैनी


पुलिसकर्मी और अब तो गीतकार भी कहा जा सकता है आरक्षी ललिता रावत का यह गीत वैसे तो उत्कृष्ट है लेकिन इस गीत की धार पैनी करने की उर्जा उस वक्त मिली जब एसएसपी हरिद्वार के पीआरओ विपिन चंद पाठक गीत को पढ़कर भावुक हो गये।

ads

इस संबंध में ललिता रावत ने बताया कि पीआरओ साहब पाठक जी ने गीत पढ़ा और सुना तो वे कुछ देर खो से गये। उन्होंने गीत की सराहना करते हुये कहा कि ये ही वो गीत है जो खाकी के मिशन हौंसलों को हौंसला देगा। और इसके बाद गीत आप सबके सामने हैं। ललिता रावत ने एसएसपी हरिद्वार के पीआरओ विपिन पाठक का दिल से शुक्रिया किया है।

One thought on “कोविड काल में | खाकी के हौंसलों को “आक्सीजन ” देता एक गीत, पढ़िये पूरी खबर

  • June 6, 2021 at 4:56 am
    Permalink

    गीत हृदय की भाषा होता है उस गीत के बोल भी यदि हृदय से ही निकले हों तो वह हृदय तक पहुंचने की ताकत रखते हैं ।
    निश्चित रूप से हौसला बढ़ाने वाला यह गीत हमारे योद्धाओं और जनमानस के प्रति उसकी भावना को मजबूत करेंगे ।
    गीत को ललिता रावत जी की अनुभूतियों की खाद पानी तथा स्वर साम्रागी अरुणा की स्वर लहरियो ने भरपूर उत्साह वर्धन किया है। दोनों को ही बहुत-बहुत बधाई एवं शुभकामनाएं ।
    भविष्य में इसी प्रकार प्रेम और सद्भाव के वातावरण में पुलिस बल और जनता के वीच में विश्वास और विनम्रता का सेतु निर्माण करती रहें।
    वैसे भी पुलिस के वर्तमान मुखिया अशोक कुमार जी प्रेम सद्भावना और अनुशासन की मिसाल हैं। उनके नेतृत्व में पुलिस बल इसी प्रकार कीर्तिमान स्थापित करें।
    उतराखण्ड के पुलिस बल के समस्त योद्धाओ ने कोरोना काल में जिस प्रकार हौसला पूर्वक हौसला बढ़ाने का कार्य किये हैं प्रशंसनीय हैं।
    जनमानस की ओर से हृदय से आभार
    🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *