tanejav1

नयी पहल की बड़ी उम्मीद| ग्रामीण उद्यमियों की दिक्कतें होंगी दूर | दुगड्डा से अवनीश डबराल की रिपोर्ट

adhirajv2

Share this news

सिटी लाइव टुडे, मीडिया हाउस-दुगड्डा से अवनीश डबराल


पलायन खूब हो रहा है। शायद ही कोई गांव बचा हो जो पलायन की मार नहीं झेल रहा हो। वजह, सुविधाओं का अभाव। रोजगार के नाम पर के
वल नेतानगरी का हुलुलू। लेकिन सरकार की नयी पहल रंग लायी तो कहा जा सकता है गांवों के ग्रामीण आत्मनिर्भर होंगे और स्वरोजगार अपनायेंगे। उत्पाद के लिये बाजार की दिक्कतें हो या अन्य समस्यायें। सभी को दूर करने की कोशिश है। इसी क्रम में जनपद पौड़ी के दुगड्डा में एक कार्यशाला आयोजित हुयी। इसमे जनप्रतिनिधियों ने भी हिस्सा लिया।

advertisment

दुगड्डा विकासखंड मुख्यालय साजासेंरण सभागार में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस ग्रामीण उद्यमियों के लिए एक कार्यशाला के द्वारा सरकार ने कई पहलू पर चिंतित होकर नए प्रारूप को बनाकर स्थानीय लोगों की आजीविका बढ़ाने के लिए एक नई पहल का शुभारंभ किया। इस पहल के अंतर्गत बिक्री की चिंता को लेकर सरकार सर्जक रूप से नए प्रारूप को चिंतित स्टार्टअप के आमूल चूल परिवर्तन एवं आधुनिक रूपांतरण का उत्तम उदाहरण पेश कर रही है। इस कार्यशाला में 7 ब्लॉक प्रमुख की अध्यक्षता में नई शुरुआत तथा साथ ही साथ मुख्य अतिथि . परियोजना निदेशक पौड़ी संजीव कुमार राय जीएमडीआईसी मृत्युंजय सिंह, 7 ब्लॉक के ग्राम विकास अधिकारी एवं बीएमएम की अध्यक्षता में कार्यक्रम की शुरुआत की गई। सार्वजनिक कार्यक्रम में सरकार के आगे आने वाली दिक्कतें एवं ग्रामीण उद्योग में असंतोष एवं उनकी दिक्कतों का निदान करने की अमूल चूल कोशिश की गई। बिजनेस इनक्यूबेटर कोटद्वार पौड़ी गढ़वाल की इस पहल को सभी ग्रामीण व्यवसाय ने अपने दिल में जगह दी एवं उनके निर्माण कारी योजनाओं को प्रतीकात्मक रूप में ग्रहण किया।

साथ ही साथ कहीं स्वयं सहायता समूह द्वारा तैयार किए गए। वस्तु का निरीक्षण एवं प्रतिपादन किया। इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से कोठारी पर्वतीय विकास समिति के सुनील दत्त कोठारी हर्बलिस्ट हर्बल टी विशेषज्ञ भाग लिया तथा स्थानीय वनस्पतियों की उपयोगिता संरक्षण एवं प्रचार.प्रसार तथा उनके द्वारा बनाए जाने वाले उत्पाद हर्बल टी को उत्तराखंड की पहचान बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। आज के समय में इस प्रकार के कार्यक्रम जहां एक और बाजार व्यवस्था को मजबूती प्रदान करती है वहीं दूसरी ओर उत्तराखंड की संस्कृति को प्रस्तुत करने की अनूठी पहल की गई। 7 ब्लॉकों की स्वयं सहायता समूह से जुड़ी हुई कई महिलाओं ने प्रतिभाग किया साथ ही साथ इस कार्यक्रम को महत्वपूर्ण बनाने में अहम भूमिका निभाईए आज ग्रामीण परिवेश में अनेक स्वयं सहायता समूह एवं गैर सरकारी संगठन अच्छे काम कर रहे हैं परंतु उनको मार्केट ना मिलने के कारण आर्थिक स्थिति से उत्तराखंड मजबूत नहीं हो पा रहा है

ads

इस प्रकार के मुद्दों पर ध्यान रखते हुए एवं संसाधनों में नई संभावनाओं को तलाश करने के लिए इस प्रकार के कार्यक्रम महत्वपूर्ण योगदान रखते हैंए अब समय आ चुका है कि उत्तराखंड वासी अपने गांव में रहकर नई रोजगार की संभावनाएं तलाश करेंए इस कार्यक्रम में उपस्थित सुनील दत्त कोठारी से वार्ता करने के पश्चात उन्होंने बताया कि उत्तराखंड में अपार संभावनाएं हैं परंतु उसका उनका प्रस्तुतीकरण एवं बाजारीकरण पर विशेष बल प्रदान करना होगा! दुगड्डा विकासखंड पौड़ी गढ़वाल का इस कार्यक्रम में महत्वपूर्ण योगदान रहाए एवं सभी उपस्थित ग्राम विकास अधिकारी ने इसके प्रचार.प्रसार में अपने महत्वपूर्ण योगदान दियाए इसका मुख्य कार्यालय कोटद्वार पौड़ी गढ़वाल में स्थित रहेगा तथा समय.समय पर ग्रामीण व्यवसाय आने वाली दिक्कतें जैसे गुणवत्ता सुधारए मंचए एवं आर्थिक रूप से सक्षम करने की पहल की गई! इस गोष्ठी का मुख्य उद्देश्य सरकार के द्वारा दिए गए दिशा पालन को धरातल पर उतारने की मुहिम रही

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *