advertisement

कोविड काल में शारीरिक स्वास्थ्य के साथ मानसिक स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दीजिये | नेहा सक्सैना की रिपोर्ट

Share this news

सिटी लाइव टुडे, नेहा सक्सैना

स्वामी राम हिमालयन विश्वविद्यालय जौलीग्रांट के हिमालयन कॉलेज ऑफ नर्सिंग में विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के उपलक्ष्य में जागरुकता सप्ताह मनाया जा रहा है। इस दौरान वक्ताओं ने महामारी के दौरान बेहतर मानसिक स्वास्थ्य की जरूरत पर बल दिया।


शुक्रवार को हिमालयन कॉलेज ऑफ नर्सिंग के मानसिक स्वास्थ्य विभाग की ओर से आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि नर्सिंग प्रिंसिपल डॉ. संचिता पुगाजंडी ने कहा कि मानसिक तनाव, चिंता और डिप्रेशन की वजह से दुनिया में बहुत सारे लोग सोशल स्टिग्मा, डिमेंशिया, हिस्टिरिया, आत्महीनता जैसी कई तरह की दिक्कतों और मानसिक बीमारियों से जूझ रहे हैं।

architect-ad

इन दिक्कतों की ओर लोगों का ध्यान आकर्षित करने और लोगों के बीच जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है। जिससे लोग मानसिक बीमारियों के प्रति जागरूक हों और समय रहते अपना इलाज करवा सकें। इस दौरान मरीजों के ध्यान एवं योग मुद्रा, मनोरजंन चिकित्सा, स्टाफ नर्सों के लिए मानसिक रूप से बीमार मरीजों के अधिकार, मरीजों व उनकी देखभाल करने वालों के लिए मनोविश्लेषक शिाक्षा पर जागरूकता सत्र आयोजित किये गये।

ad12

साथ ही नर्सिंग छात्र-छात्राओं ने पोस्टर प्रदर्शनी के माध्यम से मानसिक बीमारी व उससे बचाव के विषय में जानकारी दी। मानसिक स्वास्थ्य विभागाध्यक्ष ग्रेस मैडोना सिंह ने बताया कि इस वर्ष की थीम ‘एक असमान्य दुनिया में मानसिक स्वास्थ्य’ इसी थीम पर सभी कार्यक्रम आयोजित किये गये। उन्होंने एमएससी नर्सिंग व जीएनएम द्वितीय वर्ष की छात्राओं को मानसिक रूप से बीमार रोगियों व उनके परिवारों को शिक्षित करने पर उन्हें बधाई दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.