tanejav1

WhatsApp group में ‘रामलीला ‘| असवालस्यूं से हरेंद्र सिंह नेगी की रिपोर्ट

adhirajv2

Share this news

खेमानंद कुकरेती ने बनाया है असवालस्यूं भातृमंडल WhatsApp group
रामलीला मंचन से लेकर गीत-संगीत दूर कर रहा है तनाव यह WhatsApp group
सिटी लाइव टुडे, कल्जीखाल-प्रस्तुति-हरेंद्र सिंह नेगी
असवालस्यूं भातृमंडल WhatsApp group प्रवासी और रेबासियों में मिठास घोल रहा है। पिछले कुछ समय से इस WhatsApp group में एक नया प्रयोग शुरू हुआ है जो इस मिठास को और ज्यादा मीठा कर रहा है। यूं कहें कि जलेबी की चास का काम कर रहा है। रात आठ बजे के बाद WhatsApp group में सदस्य गीत-संगीत, वाद-संवाद और हंसी-मजाक की पिचकारियों से माहौल में बसंत बयार ले आते हैं। खास बात यह कि इस ग्रुप में रामलीला मंचन भी चल रहा है।

जनपद पौड़ी के कल्जीखाल ब्लाक की असवालस्यूं पट्टी है। इस पट्टी में कई गांव शामिल हैं। असवालस्यूं पट्टी के नाव-गांव निवासी खेमानंद कुकरेती ने असवालस्यूं भातृमंडल WhatsApp group बनाया। मकसद यह था कि क्षेत्र के लोग आपस में जुडे़ और विचारों व बातों का आदान-प्रदान करें। यह ग्रुप करीब एक-डेढ़ साल पहले बनाया गया। देखते ही देखते WhatsApp group में लोग जुड़ते गये और जो लोग दस-बीस सालो से मिले नहीं थे वे इस WhatsApp group के जरिये एक-दूसरे कनेक्ट हो गये।

advertisment

प्रतीकात्मक फोटो

करीब एक माह पहले WhatsApp group में नया प्रयोग शुरू हुआ। प्रयोग यह कि रोज रात आठ बजे के बाद अधिकांश सदस्य WhatsApp group में एक्टिव हो जाते हैं और फिर शुरू होता है बातों का सिलसिला। गीत-संगीत की मधुर ध्वनियां भी खूब गूंजती हैं। voice मैसेज रिकार्ड करके शेयर किये जाते हैं। रंगत आती रही और अब तो रामलीला के संवाद और गीत भी ग्रुप में सुनाई देते हैं। जैथोल गांव के भूपेंद्र सिंह नेगी भोपी दा रावण का संवाद सुनाकर रामलीला की यादों को ताजा कर देते हैं। पिछले दिनों जैथोल गांव के भूपेंद्र सिंह नेगी भोपी दा और चामी के हरेंद्र सिंह नेगी हरि दा के बीच रावण-सीता संवाद ग्रुप में चलता रहा। दोनों ओर से व्वाइस मैसेजेज से लबरेज संवाद को ग्रुप में सभी सुनते रहे। भोपी दा व हरि दा दोनों ही रामलीला मंचन के उम्दा कलाकार हैं।

ads

प्रतीकात्मक फोटो

अब तो रोज रात आठ बजे के बाद यह ग्रुप गीत-संगीत व हंसी-मजाक की पिचकारियों से सारा तनाव समाप्त कर दे रहा है। ग्रुप में युवा गायक आत्म प्रकाश बमोला भी अपनी गायिकी के हुनर से स्वस्थ मनोरंजन करके तनाव को दूर करते हैं। पिपला गांव के सरदार सिंह चुटकलों से समां बांधते हैं। चामी के ही विपिन खुगशाल पिछले कुछ समय से ग्रुप में खासे सक्रिय हैं और लोक गीत सुनाकर माहौल को वासंती रंग से सराबोर कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *