advertisement

10 लंबित मांगे 10 दिन मेें पूरी हों| नहीं तो | जानिये क्या है मामला

Share this news

सिटी लाइव टुडे, मीडिया हाउस


चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ चिकित्सा स्वास्थ्य सेवाएँ उत्तराखंड जनपद शाखा हरिद्वार ने राजकीय एलोपैथ,होमियोपैथी, ऋषिकुल, गुरुकुल के अधिकारियों को 10 सूत्रीय मांगों को लेकर 10 दिवस का समय देकर मांग पूरी करने का अनुरोध किया है। कर्मचारियों की जनपद स्तर पर मांगे लंबित है जिसके लिए संघ ने अपनी मांगों के निराकरण का अनुरोध किया है। यह अनुरोध जरूर है लेकिन इसे अल्टीमेटम ही मान लीजिये। वजह, कर्मचारी अब पूरी तरह से आंदोलन के मूड़ में हैं।


जिलाध्यक्ष शिवनारायण सिंह और जिला मंत्री राकेश भँवर ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी, प्रमुख अधीक्षक, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक, जिला होमियोपैथ अधिकारी, जिला क्षय रोग अधिकारी,परिसर निदेशक राजकीय ऋषिकुल, गुरुकुल चिकित्सालय को पत्र प्रेषित कर कर्मियों की चिकित्सा प्रतिपूर्ति बिलों का भुगतान, ए सी पी के एरियर का भुगतान, ग्रीष्मकालीन वर्दी,यात्रा भत्ता बिलों का भुगतान,जी पी एफ के देयकों का शीघ्र भुगतान, वेतन विसंगति, चतुर्थ श्रेणी कर्मियों के आश्रितों को योग्यता अनुसार स्वास्थ्य विभाग में होने वाली भर्तियों में प्राथमिकता के आधार पर नियुक्ति देना, चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारियों के आवासों में रंगाई, पुताई, मरम्मत इत्यादि का कार्य, और सीवर लाइन डलवाने का कार्य किया जाना, राजकीय चतुर्थ श्रेणी कर्मियों को प्रामिखता के आधर पर राजकीय आवास आवंटित किया जाना आवासीय आवंटन समिति में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संघ के एक पदाधिकारी को नामित किया जाना आदि मांगो के निराकरण का अनुरोध किया है

architect-ad

अगर 10 दिवस में मांगो पर गंभीरता पूर्वक विचार नहीं किया जाता है तो संघ अग्रिम रणनीति के तहत बैठक बुलाकर आंदोलन की रणनीति तैयार करने पर विवश होना पड़ेगा।

ad12


प्रदेश अध्यक्ष दिनेश लखेडा प्रदेश ऑडिटर महेश कुमार, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य राजेन्द्र तेश्वर ने कहा कि जिले के अधिकारियों को शीघ्र से शीघ्र अपने स्तर की मांगों के निस्तारण के लिए कार्यवाही करनी चाहिए अन्यथा जो भी आंदोलन जनपद करेगा उसका उत्तरदायित्व जिले के तमाम अधिकारियों का होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.