advertisement

तो उत्तराखंड में शुरू होगी घर-कुडी रक्षक पेंशन| पढ़िये पूरी खबर

Share this news

सिटी लाइव टुडे, उत्तराखंड


उत्तराखंड के पहाड़ की पीड़ा पलायन रही है। पलायन रोकने के दावे खूब होते रहे हैं लेकिन पलायन रूकने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसे में घर-कुड़ी रक्षक पेंशन योजना का जिक्र होने लगा है जिससे पलायन पर लगाम लगेगी। हालांकि यह पेंशन कब लागू होगी यह अभी तय नहीं है। लेकिन हां, सियासी मौसम में इसका जिक्र होने सुखद माना जा सकता है।

architect-ad


दरअसल, इन दिनों कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और पूर्व सीएम हरीश रावत उत्तराखंड में जनता के बीच लगातार सक्रिय हैं। इसी दरमियान उन्हें कई चमत्कारिक सुझावों में से यह सुझाव भी मिला है, कि पलायन को रोकने के लिए पहाड़ों पर रहने वाले लोगों को पेंशन योजना से जोड़ा जाए। हरदा ने इस बात का जिक्र कर पार्टी में रखने और भविष्य में उसे योजना में शामिल करने की बात कही है।

ad12

बकौल, रावत कि ”जब आप लोगों के बीच जाते हैं तो बहुत सारे चमत्कारिक सुझाव मिलते हैं। बेबसी के पलायन के खिलाफ एक सुझाव उन लोगों को पेंशन योजना में सम्मिलित करने का है, जो लोग घर-कुड़ी के रक्षक हैं। जिन्होंने गांव में अपने मकान के दरवाजे खोलकर रखे हैं। उन लोगों के लिए सम्मानपूर्ण जीविकोपार्जन के लिए एक ‘घर कुड़ी रक्षक पेंशन योजना’ का सुझाव कल मेरे सम्मुख आया। मैं अपने पार्टी के साथियों से विमर्श कर इसको कांग्रेस की भविष्य की योजना में सम्मिलित करूंगा।“

Leave a Reply

Your email address will not be published.