advertisement

अद्भुत रचनाकार थे स्वर्गीय मोहन थपलियाल | प्रेरक स्मरण हुये साझा |पढ़िये पूरी खबर

Share this news

सिटी लाइव टुडे, मीडिया हाउस
साहित्यकार स्वर्गीय मोहन थपलियाल की साहित्यिक-यात्रा पर विचारों का आनलाइन मंथन हुआ। साहित्यकारों ने स्वर्गीय थपलियाल को अव्वल दर्जे का साहित्यकार बताते हुये उनसे जुडे़ स्मरण को साझा किया। उत्तराखंड की जिया फेसबुक पेज पर आनलाइन कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें स्वर्गीय मोहन थपलियाल की सुपुत्री प्रीति थपलियाल ने पिता से जुड़े स्मरण व प्रेरक साहित्यिक प्रसंगों को बताया।


एक स्वर में साहित्यकारों ने कहा कि स्वर्गीय मोहन थपलियाल एक अद्भुत रचनाकार थे, उनकी रचनायें कालजयी हैं। साहित्यकार लक्ष्मी प्रसाद बडोनी दर्द गढ़वाली ने कहा कि एक दशक से पत्रकारिता का स्तर गिर रहा है। स्वर्गी मोहन थपलियाल एक अव्वल दर्जे के लेखक थे।

उनका लिखा साहित्य हमेशा नई दिशा व दशा देता रहेगा। वरिष्ठ कहानीकार बंधु कुशवार्थी, महेश पांडे, अशोक चंद्र आदि ने विचार रखे। संचालन जया हिंदवान ने किया।

ad12

architect-ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.