advertisement

श्रुति लखेड़ा @ रैली में दिखी ” सियासी ताकत “| उमड़ा जन-सैलाब | click कर पढ़िये पूरी खबर

Share this news

सिटी लाइव टुडे, चुनावी डेस्क


शोर करना करना मकसद नहीं, सूरत-ए-हाल बदलने चाहिये। इन्हीं शब्दों व भावों को लेकर सियासी मैदान में उतरी श्रुति लखेड़ा ने अपने चुनावी प्रचार तंत्र को प्रचंड कर दिया है। रविवार को पूरी दमखम के साथ श्रुति ने क्षेत्र में रैली निकालकर शक्ति प्रदर्शन किया। रैली में नारी शक्ति की उपस्थिति और उमड़े जन-सैलाब ने श्रुति के सियासी कद व ताकत का अहसास करा दिया। इससे पहले श्रुति के चुनावी कार्यालय का भी विधिवत शुभारंभ हुआ। इस मौके पर श्रुति ने तल्ख तेवरों के साथ क्षेत्र का विकास नहीं होने के लिये नेतानगरी को भी आडे़ हाथों लिया।


गैंडीखाता जिला पंचायत सदस्य के चुनाव में दमदार चुनावी ताल ठोक चुकी श्रुति लखेड़ा ने फ्रंट फुट में आकर चुनावी रथ को तेेज रफ्तार के साथ आगे बढ़ा दिया है। रविवार को वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ चुनावी कार्यालय के उद्घाटन की गवाह बड़ी संख्या में क्षेत्र की जनता बनी। उद्घाटन के मौके पर भी श्रुति के समर्थकों ने जमकर नारेबाजी की। कार्यालय के उद्घाटन के मौके पर भी समर्थकों ने श्रुति के सराहनीय कार्यों की प्रशंसा के जमकर कसींदे गढ़े।

architect-ad

ad12

इसके बाद क्षेत्र में जोरदार रैली निकाली गयी। जैसे ही रैली शुरू हुयी। श्रुति के समर्थकों ने फिर नारेबाजी तेज कर दी। जैसे-जैसे रैली आगे बढ़ती गयी, कारवां बढ़ता गया और रैली ने विशाल रूप धारण कर लिया। रैेली में नारी शक्ति की दमदार उपस्थिति और उमड़े जन सैलाब ने श्रुति लखेड़ा के सियासी कद व ताकत का अहसास भी करा दिया। इस मौके पर श्रुति ने तल्ख तेवरों के साथ क्षेत्र के विकास को लेकर नेतानगरी पर जोरदार प्रहार किया। उन्होंने कहा कि नेतानगरी ने क्षेत्र की जनता को केवल वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल किया है लेकिन अब ये सब नहीं चलने वाला है। अपने सधे अंदाज में श्रुति ने कहा कि शोर करना मेरा मकसद नहीं, सूरत-ए-हाल बदलने चाहिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published.