advertisement

” जीतू दा “|” नयारघाटी ” की माटी में खिलता शानदार & जानदार ” फनकार “|एक click में पढ़िये पूरी खबर

Share this news

सिटी लाइव टुडे, मीडिया हाउस


जनपद पौड़ी pauri garhwal के सतपुली satpuli क्षेत्र यानि नयारघाटी क्षेत्र में एक फनकार अपनी कला के हुनर से लोक संस्कृति folk culture व कला के कई रंग बिखेर रहा है। बेजोड़ प्रतिभा का यह धनी फनकार आवाज का जादू तो बिखेर ही रहा है साथ ही कहीं फिल्मी स्टारों की हू-ब-बू आवाज निकालने की महारत भी हासिल रखता है। आचार-व्यवहार एकदम साधारण इस फनकार artist के अंदर असाधारण प्रतिभा है।


चलिये, अब आपको इस फनकार का नाम बता देते हैं। जी हां, इस फनकार का नाम है जीतू मियां राठौर। सतपुली से कुछ ही दूर पर स्थित बडकोलू के ये मिया जी एकदम सादगी भरा जीवन जीते हैं। जीतू जीतू मियां राठौर युवा है और संगीत के क्षेत्र में कुछ हटकर व नया innovative करने की ललक इनके अंदर कूट-कूटकर भरी है।

architect-ad


लोक गायिकी के प्रति क्रेज इनके अंदर बचपन से ही रहा है जो समय-समय के साथ बढ़ता ही जा रहा है। खास बात यह है कि गौं-गुठ्यार rural villages से लेकर दिल्ली delhi तक ये अपनी प्रतिभा का लौहा मनवा चुके हैं। क्षेत्र की उभरती नयी प्रतिभा rising star को भरपूर fullfill मंच देना भी इनकी विशेषता है।
देवी-देवताओं के निमित होने वाले जागरण कार्यक्रमों से लेकर कौथिंगों के आयोजन में भी जीतू जीतू मियां राठौर दमदार उपस्थिति देते आ रहे हैं। शुरूआती दिनों में श्रीराम लीला मंचन के दौरान भी जीतू मिया राठौर सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देते थे यहीं से उनकी प्रतिभा को नयी धार मिलती रही।

ad12

गायन के साथ-साथ जीत मिया अमिताभ बचन, गुलशन ग्रो्रवर, अंबरीष पुरी आदि फिल्मी कलाकारों की हू-ब-हू आवाज निकालकर हर किसी को अचंभित कर देते हैं। जीतू मिया राठौर बताते हैं कि संगीत एक साधना है तपस्या है। संगीत के बिना तो जीवन ही अधूरा है। उन्होंने बताया कि उत्तराखंड की लोक-संस्कृति एकदम खास है जिसमें जीवन के सभी रंग देखने व महसूस करने को मिलते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.