tanejav1

स्वामी के निर्देश और अफसर का भरोसा | पूरा होगा कि नहीं |मुकेश कुमार सूर्या की रिपोर्ट

adhirajv2

Share this news

श्यामपुर, लालढांग, मुकेश कुमार सूर्या


आफत की बारिश से नदियांे के उफान होने से मुसीबतों की बाढ़ आयी। लालढांग क्षेत्र में नदी के तेज बहाव के कारण कई जगहों को क्षतिग्रस्त कर दिया। कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद के निर्देश पर सिंचाई विभाग ने निरीक्षण किया और शीघ्र ट्रीटमेंट का भरोसा दिया। यह अच्छी और राहत भरी खबर है। अब देखना यह है कि यह भरोसा पूरा होता है कि नहीं। वैसे उम्मीद की जा सकती है कि वजह, चुनावी मौसम से पहले का वक्त है।

advertisment


कैबिनेट मंत्री उत्तराखंड सरकार स्वामी यतिश्वरानंद के निर्देश पर बुधवार को सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता और उनकी टीम लालढांग क्षेत्र में पहुंची। क्षेत्र में पहुंची सिंचाई विभाग की टीम ने रसूलपुर गांव में पहुंचकर रवासन नदी के तेज बहाव के कारण क्षतिग्रस्त हुए स्थानों का स्थलीय निरीक्षण किया और जहां जहां भी नदी के तेज बहाव के कारण नदी के किनारे और अन्य स्थान क्षतिग्रस्त हुए थे उन स्थानों के ट्रीटमेंट हेतु शीघ्र ही कार्य आरंभ किए जाने का अधिशासी अभियंता ने भरोसा दिलाया!


ज्ञात हो कि पिछले सप्ताह पहाड़ी और मैदानी क्षेत्रों में कोई भारी बारिश की वजह से क्षेत्र से होकर गुजरने वाली रवासन नदी भी अपने उफान पर आई थी, पार नदी का पानी अपने किनारों को तोड़कर आस-पास के गांव रसूलपुर, मीठी बेरी, मंगोलपुर और रसूलपुर गोट सहित आसपास के तमाम गांव और क्षेत्रों में घुस गया था! जिस कारण स्थानीय निवासियों को भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा! जिसकी शिकायत क्षेत्र के जागरूक जनप्रतिनिधि और समाजसेवियों ने कैबिनेट मंत्री स्वामी यतिस्वरानंद से करते हुए उचित कार्यवाही की मांग की थी! इसी का संज्ञान लेकर मंत्री ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया था कि वह तुरंत मौके पर जाकर स्थिति का जायजा ले और जनता की सुविधा के लिए उचित कदम उठाएं!

ads

सिंचाई विभाग के निरीक्षण की निरीक्षण टीम में एक्सईएन श्रीमती मंजू, जेई जिले सिंह और एसडीओ शिशिर श्रीवास्तव आदि सहित क्षेत्रीय प्रतिनिधियों में आलोक द्विवेदी, संतराम, सुरेंद्र रावत, दिनेश बडोला, यादराम सैनी, तारा सिंह, विनोद जोशी, विनोद सैनी, विनय कुमार सहित ग्रामवासी उपस्थित रहे!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *