advertisement

यहां सुलग रही आंदोलन की ” चिंगारी “| भारी गुस्से में स्वास्थ्य महकमे के ये कर्मचारी| पढ़िये पूरी खबर

Share this news

सिटी लाइव टुडे, मीडिया हाउस


चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ चिकित्सा स्वास्थ्य सेवाएँ उत्तराखंड जनपद हरिद्वार भारी गुस्से में है। तमाम मांगों को लेकर मिल रही मीठी गोली से सब्र का बांध टूटने लगा है। एक बार फिर चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ चिकित्सा स्वास्थ्य सेवाएँ उत्तराखंड जनपद हरिद्वार ने मांगों को लेकर हुंकार भरी है। इस बार तीखे तेवर दिखे और कहा जाये तो इस बार कर्मचारियों की भृकुटि तनी हुयी है। एक बैठक में तय किया गया कि यदि जल्द ही मांगें नहीं मानी गयी तो अब बस आंदोलन ही आखिरी रास्ता रह गया है। बैठक के बाद कर्मचारियों ने रक्तदान शिविर में रक्तदान भी किया।


की एक बैठक राजकीय ऋषिकुल चिकित्सालय में हुई जिसकी अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष दिनेश लखेडा ने की उन्होंने कहा कि कर्मचारियों का शोषण किसी भी तरह बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। प्रदेश अध्यक्ष दिनेश लखेडा जिलाध्यक्ष शिवनारायण सिंह उपशाखा अध्यक्ष छत्रपाल सिंह ने कहा कि कर्मचारियों के वेतन को लेकर हर माह देरी होने के कारण कर्मचारियों द्वारा बैंक द्वारा लिये गए लोन में ब्याज भरना पड़ेगा

architect-ad

इसलिये कर्मचारियों ने कोषागार के माध्य्म से वेतन देने के लिए सरकार और शासन से गुहार लगाई किन्तु कर्मियों की सुनी नही गयी, कर्मचारियों के जी पी एफ, चिकित्सा प्रतिपूर्ति के भुगतान करने में देरी की जाती है, कर्मचारियों की पदोन्नति वर्षो से रुकी हुई है लिपिक पदों पर पदोन्नति के साथ साथ पंचकर्म सहायक, योग प्राकृतिक चिकित्सा सहायक, लेब सहायक के पदों पर पदोन्नति की जानी चाहिए, सेवा निर्वत कर्मचारियों के समस्त देयकों का भुगतान होने में वर्षो लग जाते हैं, कई कर्मचारियों की ए0सी0 पी नही लगाई गई है जो कि कर्मचारियों के साथ अन्याय पूर्ण नीति की जा रही है,ऋषिकुल गुरुकुल राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय के कर्मियों को कोविड सेंटर में कार्य करने के बाद भी आज तक प्रोहत्साहन भत्ता नही दिया गया जबकि एलोपैथी के चिकित्साधिकारियों को10 हजार प्रोहत्साहन भत्ता दे दिया गया किन्तु जिन चतुर्थ श्रेणी कर्मियों, सफाई कर्मचारियों ने अपनी जान पर खेलकर कोविड रोगियों की सेवा की उनको कोई प्रोहत्साहन भत्ता नहीें दिया गया ये जब है कि मुख्यमंत्री ने इन संबंध में आदेश कर दिये थे किंतु छोटे संवर्ग की कोई सुनवाई नहीं है इस संबंध में अपना पक्ष रखने के लिए माननीय मुख्यमंत्री से मिलकर अनुरोध किया जाएगा।


प्रदेश अध्यक्ष दिनेश लखेडा जिला मंत्री राकेश भँवर प्रदेश कार्यसमिति सदस्य राजेन्द्र तेश्वर ने कहा कि पूरे देश में NPS कर्मचारियों द्वारा पुरानी पेंशन बहाली के लिए आंदोलन किया जा रहा है। इस संबंध में पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा उत्तराखंड द्वारा पेंशन पथ प्रकाश यात्रा पूरे प्रदेश में की जाएगी और राज्य सरकार से अनुरोध किया जाएगा कि राजस्थान, छत्तीशगढ़ की भांति उत्तराखंड में भी पुरानी पेंशन बहाल की जाए। सभी कर्मचारियों से अपील की संगठित होकर पुरानी पेंशन बहाली आंदोलन में सहयोग करें। जल्द ही मांगों के निस्तारण न होने की दशा में आंदोलन का समस्त उत्तरदायित्व चिकित्सालय प्रशासन का होगा।

ad12


ऋषिकुल चिकित्सालय में रक्तदान शिविर लगाये जाने पर चतुर्थ श्रेणी कर्मियो और अन्य कर्मियों ने भी रक्तदान किया जिसमें नितिन, दीपक, अनिल कुमार दिलबर सिंह सत्कारी, मनीष,इत्यादि ने रक्तदान कर रोगियों के जीवन बचाने के लिए दिया।
बैठक में शिवनारायण सिंह, राजेन्द्र तेश्वर, राकेश भँवर, दीपक, नितिन, दिनेश ठाकुर,रामपाल, विनोद कुमार, अनिल कुमार, छत्रपाल सिंह, इत्यादि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.