advertisement

जंगल बिना ” मंगल ” नहीं| वनों को आग से बचायें| जयमल चंद्रा की रिपोर्ट

Share this news

सिटी लाव टुडे, जयमल चंद्रा, यमकेश्वर


द हंस फाउंडेशन का वनों को आग से बचाने का अभियान जारी है। इन दिनों वनाग्नि शमन एवं रोकथाम परियोजना के तहत वनों को बचाने का अभियान चल रहा है। खासो-आम को जागरूक करने पर फोकस है। इस क्रम में जनपद पौड़ी यमकेश्वर क्षेत्र के राइंका द्वारीखाल के छात्रों ने जागरूकता रैली निकाली। रैली में द हंस फाउंडेशन के पदाधिकारयों व कार्यकर्ताओं नेे भी शिरकत की। इसके अलावा स्कूल के शिक्षकों, फायर फाइटर्स, वन पंचायत के सरपंचों आदि ने भी प्रतिभाग किया।


इस मौके पर द हंस फाउंडेशन के वनाग्नि शमन एवं रोकथाम परियोजना के समन्वयक सतीश बहुगुणा ने वनों के महत्व पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि वनों के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है। ऐसे में वनों को बचाने का दायित्व हर नागरिक है। उन्होंने आग से वनों को होने वाले नुकसान एवं इसका आमजन पर पड़ने वाले प्रभाव की भी जानकारी साझा की।

architect-ad

ad12

इस मौके पर द हंस फाउंडेशन के वनाग्नि शमन एवं रोकथाम परियोजना के सीओ रूप नारायण कोटियाल, राइंका द्वारीखाल की प्रध्यानाध्यापिका नीमा जोशी ने वनों के महत्व पर जानकारी दी। इस अवसर पर सहायक अध्यापक मुकेश जोशी, एसपी भट्ट, कल्पना, गीता देवरानी, वन सरपंच सरीता देवी, बबीता आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.