advertisement

power cut| विद्युत कटौती की उद्योगों पर मार| सीएम से लगायी गुहार| विकास श्रीवास्तव की रिपोर्ट

Share this news

सिटी लाइव टुडे, विकास श्रीवास्तव


तापमान बढ़ने के साथ ही अघोषित विद्युत कटौती भी शुरू होने लगी है। इससे उद्योगों के कामकाज पर असर पड़ने लगा है। हरिद्वार भी इससे अछूता नहीं रहा। इससे उद्योगों का प्रबंधक खासा चिंतित है। सिडकुल एंटरप्रेन्योर वेलफेयर एसोसिएशन सेवा ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को अपना दुखड़ा सुनाया है। एसोसिएशन के एक प्रतिनिधिमंडल ने स्थानीय विधायक आदेश चैाहान के साथ सीएम से मुलाकात की और समस्या के निराकरण की गुहार लगायी।


मुलाकात में प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि जिला हरिद्वार में स्थित लघु और माइक्रो उद्योगों के समक्ष विद्युत का भारी संकट खड़ा हो गया है ।प्रतिदिन 2 घंटे से लेकर 8 घंटे तक बिना बताए विद्युत की कटौती हो रही है । जिसके कारण सभी श्रमिक खाली बैठे रहते हैं और मशीन बंद होकर दोबारा आरंभ करने में 2 से 4 घंटे का समय व्यर्थ हो जाता है । जिससे उत्पादन , राजस्व और रोजगार प्रभावित हो रहा है ।

architect-ad

ad12

आपसे अनुरोध है कि हमारा क्षेत्र लगभग 100 प्रतिशत का विद्युत कलेक्शन देता है , सभी लघु और माइक्रो उद्योगों ने विद्युत सप्लाई के वर्तमान दरों की बढ़ोत्तरी को भी स्वीकार किया है। जिससे अनवरत विद्युत उपलब्ध हो सके। जिनके कंटिन्यूज कनेक्शन है ,वह मात्र 5 प्रतिशत दर अधिक देकर लगातार विद्युत प्राप्त कर रहे हैं ।जबकि हमें यह जनरेटर से जलाकर लगभग 25 से ₹30 प्रति यूनिट का पड़ता है और वह उत्पादन बाजार में हम किस भाव बेचेंगे जोकि संभव ही नहीं है। अतः सिडकुल और बहादराबाद के क्षेत्रों में अनवरत विद्युत की सप्लाई उपलब्धता सुनिश्चित की जाए । पूर्व में इस प्रकार ही चल रहा था ।अभी विभागीय तौर से कोई सुनवाई नहीं हो पा रही है ,ना ही कोई सूचना बंद की प्राप्त होती है ।कृपया संज्ञान में लेकर तुरंत इस संबंध में माइक्रो लघु उद्योग को बचाने के लिए आपका सहयोग अपेक्षित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.