advertisment

जय हो| नवरात्रों में पायें रक्तदान का ” पुण्य” | पढ़िये पूरी खबर

Share this news

सिटी लाइव टुडे, मीडिया हाउस


नवरात्रों का पुनीत अवसर है और साधना व आराधना में मां के भक्त लीन हैं। कन्या पूजन के साथ नारी सशक्तिकरण का संदेश भी जायेगा। इसके साथ ही रक्तदान करने से किसी की जान बचेगी। नवरात्रों का यह पुण्य हाथ नहीं जाने दें। 7 अप्रैल को रक्तकोष जिला चिकित्सालय में रक्तदान शिविर लग रहा है। आइये, रक्तदान कर जिम्मेदार नागरिक होने का फर्ज निभायें।

विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर निदेशक एन0एच0 एम0डॉ सरोज नैथानी द्वारा दिनाँक 07 अप्रेल 2022 को रक्तकोष जिला चिकित्सालय हरिद्वार राजकीय मेला चिकित्सालय के निकट एक रक्तदान शिविर का प्रातः 09 बजे से 02 बजे तक आयोजन हो रहा है। आमजन से गुजारिश है कि रक्तदान कर किसी की जान बचाने का पुण्य हासिल करें। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ कुमार खगेंद ने बताया कि रक्त संचरण सेवा राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और मानव रक्त का रक्तदान के अतिरिक्त अन्य कोई विकल्प उपलब्ध नहीं है। प्रयाप्त मात्रा में रक्त उपलब्धता होने से यह थैलीसीमिया, एनीमिया एवं किसी भी प्रकार की आपात कालीन स्तिथि में सहायक होता है।

advertisment4

रक्तकोष प्रभारी डॉ रविन्द्र चौहान ने कहा कि रक्तदान करने से जहां एक तरफ मरीज की जान बचती है वही दूसरी ओर रक्तदान करने वाले रक्तदाता को शारीरिक फायदे भी होते हैं जैसे कि रक्तदाता के रक्तनिर्माण और प्रवाह की प्रक्रिया को ताजा करता है, आयरन की अधिकता से होंने वाले दिल और लिवर की विमारियों के खतरे को कम करने में रक्तदान फायदेमंद है साथ ही रक्तदाता निःशुल्क स्वास्थ्य जांच ब्लडप्रेसर,हीमोग्लोबिन, ब्लड ग्रुप, पल्स की जांच की जाती है।

ad12


प्रमुख अधीक्षक डॉ सी पी त्रिपाठी ने कहा कि आपके एक यूनिट रक्तदान से तीन व्यक्तियों की जान बच सकती है और जब आप रक्तदान करते हैं तो आपके शरीर में रक्तदान के24 घंटों के भीतर रक्त की मात्रा ठीक हो जाती है और आपको मानसिक रूप से खुश ओर मजबूत बनाता है और रक्तदाता में दान की भावना को बढ़ाता है इसलिये जिन्हें भी रक्तदान किये हुए तीन माह से अधिक हो चुके हैं वह हरिद्वार के राजकीय रक्तकोष निकट मेला चिकित्सालय में रक्तदान कर अपना सहयोग दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.