advertisement

इस गढ़वाली गीत को ” लता दीदी ” ने दी आवाज| पढ़िये पूरी खबर

Share this news

सिटी लाइव टुडे, मीडिया हाउस
स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर कभी ना खत्म होने वाली यादों की अमिट छाप छोड़कर चली गयीं। हिंदी सिनेमा जगत के साथ ही लता दीदी ने कई आंचलिक भाषाओं में भी अपनी गायिकी का जादू बिखेरा। गढ़वाली भाषा में भी लता दीदी ने अजर-अमर गीत गाया है। इस गीत में उनका गायन ठेठ-शैली व गायन पर सौ प्रतिशत खरा उतरता है।

ad12

इतने खूबसूरत अंदाज में लता दीदी ने यह गीत गाया कि लगता है कि गढ़वाली भाषा में रचा-बसा singer इस गीत को गा रहा हो।
आइयें, इसी गीत का जिक्र करते हैं। रैबार फिल्म में स्वर साम्राज्ञी ने मन भरमैगे गीत को आवाज दी। रैबार फिल्म 1990 में रिलीज हुयी थी लेकिन गीत करीब दो साल पहले रिकार्ड कर दिया गया था। मन भरमैगे गीत देवी प्रसाद सेमवाल ने लिखा था। संगीत कुंवर बावला ने तैयार किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.