advertisment

TSR के फैसले का तीन विधानसभाओं पर सीधा असर| भगवान सिंह रावत की रिपोर्ट

Share this news

सिटी लाइव टुडे, भगवान सिंह रवत

पूर्व मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत के पत्र ने प्रदेश के तीन विधानसभा क्षेत्रों में सरगर्मी बढ़ा दी है! सोशल मीडिया साइटों पर अटकलों का दौर शुरू हो गया है जिसे अब भाजपा की ओर से जारी उम्मीदवारों की सूची के बाद ही विराम मिल सकता है!

सूबे के वर्तमान भाजपा सरकार में मुख्यमंत्री रहे, त्रिवेन्द्र सिंह रावत कुछ दिन पहले तक doiwala  विधानसभा से अपने किए गए विकास कार्यों के बल पर चुनाव लड़ ने को तैयार थे, वहीं अचानक अब वह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को लिखे पत्र में बदली हुई परिस्थितियों में आगामी चुनाव न लड़ने की बात कह रहे हैं

advertisment4

राजनीति के जानकार लोग उनके इस कदम को  केन्द्रीय नेतृत्व का दिशा-निर्देश बता रहे हैं!कहा जा रहा है कि उनको संगठन में बड़ा दायित्व दिया जायेगा और केंद्रीय नेतृत्व चाहता है कि भाजपा अपने सिटिंग विधायकों में अधिक से अधिक को जीताकर लाए! एवं  नरेंद्र नगर, ऋषिकेश, doiwala तीनों विधानसभा क्षेत्रों से पार्टी के उम्मीदवार जीतकर आयें!

ad12

इसी कड़ी में कयास लगाए जा रहे हैं कि नरेन्द्र नगर से वर्तमान विधायक एवं कृषि मंत्री सुबोध उनियाल को ऋषिकेश और ऋषिकेश के वर्तमान विधायक विधानसभा अध्यक्ष तीन बार लगातार  काबिज प्रेमचंद अग्रवाल को doiwala से लड़वाया जा सकता है और बार बार टिकट के लिए नरेंद नगर से पार्टी से बगावत करने वाले पूर्व विधायक ओम गोपाल रावत को नरेंद नगर सीट से टिकट दिया जा सकता है!लेकिन सुबोध उनियाल के कट्टर समर्थक इन बातों को सिर्फ अटकलें बता कर खारिज कर रहे हैं, उनका कहना है कि विकास कार्य क्षेत्र में किए गए हैं तो फिर वह दूसरी विधान सभा क्षेत्र में जाने का सवाल ही पैदा नहीं होता! बहरहाल सोशल मीडिया पर आज यह मुद्दा छाया हुआ है! पार्टी हाईकमान से जारी सूची तक मुद्दा तो गरम रहेगा ही!

Leave a Reply

Your email address will not be published.