advertisment

मोदी के केदारनाथ दौरे से राजनीति में “ता-ता थैय्या ” | विकास श्रीवास्तव की रिपोर्ट

Share this news

सिटी लाइव टुडे, मीडिया हाउस-विकास श्रीवास्तव


प्रधानमंत्री के केदारनाथ दौरे पर सियासत पूरी तरह से पूरे रंग में दिखी। सर्द हो रहे मौसम में राजनीति बेहद गरम हो रखी है। मोदी केदारनाथ पहुंचे तो पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत हरिद्वार पहुंचे। उन्होंने कई मंदिरों के दर्शन किए और कहा कि भाजपा सरकार केदारनाथ में कुछ नया नहीं कर रही है, जो काम भी कर रही है वह कांग्रेस के द्वारा शुरू किए गए कामों को आगे बढ़ा रही है। इन कार्यों को कांग्रेस ही पूर्ण करेगी, जब 2022 के चुनाव में कांग्रेस सत्ता में आएगी। पूर्व मुख्यमंत्री कांग्रेस नेता हरीश रावत ने कहा कि मोदी केदारनाथ अपनी पार्टी की मार्केटिंग करने आए हैं। उन्होंने कहा कि भगवान शिव किसी के अहंकार को स्वीकार नहीं करते।

हरीश रावत ने एक बयान जारी कर कहा कि प्रधानमंत्री के केदारनाथ आगमन से अपेक्षाएं थी, लेकिन उन्होंने बहुत निराश किया, उन्होंने आपदा पीड़ित उत्तराखंड और केदारनाथ के भविष्य की योजनाओं के बारे में कुछ भी नहीं कहा।

advertisment4

बीजेपी नेता देवेंद्र भसीन ने एक बयान ट्वीट कर कहा कि 2013 में जब केदारनाथ आपदा आई थी, तब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, उन्होंने केदारनाथ पुनर्निर्माण की इच्छा जताई थी, लेकिन सोनिया गांधी ने इससे इंकार कर दिया। अब प्रधानमंत्री के तौर पर मोदी केदारनाथ का पुनरुद्द्धार कर रहे हैं।

ad12

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि भाजपा के पास खुशहाल उत्तराखंड का रोडमैप है। केदारनाथ दौरे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भावी योजनाओं की घोषणा कर इसे पुख्ता किया है, उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का उत्तराखंड के प्रति विशेष लगाव है, जब भी वह उत्तराखंड आते हैं, दुनिया में उत्तराखंड की छवि निखरकर सामने आती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.