advertisement

यह लापरवाही जोखिम में डाल सकती है जिंदगी | अनिल शर्मा की रिपोर्ट

Share this news

सिटी लाइव टुडे, अनिल शर्मा, लालढांग

प्रतिबंधित कांवड़ मेले के चलते सीमाओं पर खाकी का कड़ा पहारा जारी है। तय शर्तें पूरी किये बिना आ रहे वाहनों को वापस भेजा जा रहा है। लेकिन स्याह पहलू यह भी है कि आमजन अभी भी सेहत के प्रति लापरवाह बना हुआ है। उम्मीद तो यह की जानी चाहिये कि लोग खुद ही तय शर्तें पूरी करने के बाद ही उत्तराखंड आयें, लेकिन अफसोस कि ऐसा नहीं हो रहा है।

इस समय अन्य राज्यों से उत्तराखंड आने के लिये आनलाइन रजिस्ट्रेशन और नेगेटिव आरटीपीसीआर रिपोर्ट जरूरी है। इनके बिना उत्तराखंड में प्रवेश प्रतिबंधित है। इन शर्तों का पालन करवाने के लिये खाकी ने कमर कस रखी है। पिछले दिनों इसी को लेकर विभिन्न राज्यों के अफसरों की बैठक भी हुयी थी। उत्तराखंड के अलावा उत्तर-प्रदेश व दिल्ली में भी कांवड़ यात्रा पर रोक लग रखी है लेकिन तय शर्तों का पालन लोग नहीं कर रहे हैं। यह लापरवाही खुद के साथ ही अन्य लोगों पर भी भारी पड़ सकती है।

architect-ad

पिछले दिनों 14 कांविड़ये हरकी पैड़ी तक पहुंच गये थे जिन्हें गिरफ्तार किया गया और प्रेमनगर आश्रम में क्वारंटाइन किया गया है। इसके अलावा सीमाओं पर पुलिस की सख्ती के बाद भी लोग तय शर्तों को पूरे किये बिना ही उत्तराखंड आने की योजना बना रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से श्यामपुर व लाडपुर सीमाओं पर पुलिस दर्जनों वाहन को वापस भेज रही है।

ad12


मंगलवार को भी चिडियापुर बाॅर्डर से 64 व लाडपुर बाॅर्डर से 35 वाहनों को वापस भेजा गया। श्यामपुर थाना प्रभारी अनिल चैाहान ने बताया कि सीमाओं पर सख्ती से तलाशी की जा रही है। उन्होंने कहा कि बिना आनलाइन रजिस्ट्रेशन और बिना आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट के उत्तराखंड में प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है। उन्होंने आमजन से अपील की है कि तय शर्तें पूरी करने के बाद ही उत्तराखंड आने की योजना बनायें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.