advertisement

बेस अस्पताल कोटद्वार | ऐसे ही लगता है साख पर बट्टा | कोटद्वार से सुधांशु थपलियाल की रिपोर्ट

Share this news

सिटी लाइव, टुडे, सुधांशु थपलियाल, कोटद्वार


कोटद्वार बेस अस्पताल में स्वास्थ्य सुविधायें एवं सेवायें दम तोड़ती जा रही है। चिकित्सकों का टोटा अलग से होने से यह अस्पताल रेफर सेंटर बनकर रह गया है। कोढ़ में खाज यह है कि कर्मचारी है कि भजराम हवलदारी की तर्ज पर ड्यूटी बजा रहे हैं। व्यावहारिक दिक्कत व सेवाभाव नाम से कोई सरोकार नहीं है। ऐसे में बेस अस्पताल की साख पर बट्टा नही ंतो क्या तमगा लगेगा।

ताजा मामला इसको और भी पुख्ता कर देता है। दरअसल, खून जांच कराने पहुंचे एक व्यक्ति को आज इस भजराम हवलदारी का सामना करना पड़ा है। जिसमें CMS को हस्तक्षेप तक करना पड़ा। असल मेें हुआ यूं कि अस्पताल मंे ब्लड टेस्ट की पर्ची काटने का समय सुबह 8 से 11बजे निर्धारित किया गया है लेकिन अगर कोई व्यक्ति 11 बजे से पहले लाइन में लगा हो और उसकी बारी आते हुए अगर 11 बजे से 1मिनट मे ज्यदा हो जता है तो वहां मौजूद कर्मचारी उसको यह कहकर लौटा देते हंै कि 11 बजे तक की पर्ची काटी जाती है

architect-ad

ad12

भले ही आप कितने भी बजे से लाइन मे खड़े हो। ऐसा ही वाक्य आज एक युवक के साथ हुआ जिसके बाद युवक अपनी फरियाद लेकर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक वी सी काला के पास गया हालांकि cms के हस्तछेप के बाद युवक का ब्लड टेस्ट करा लिया गया, लेकिन अस्पताल के कर्मचारीयों का इस तरह का अड़ियल रवैया कहीं ना कहीं अस्पताल की छवि को धूमिल कर रहा है। सीधे शब्दों में कहंे तो अस्पताल की साख पर बट्टा लग रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.