advertisement

यमकेश्वर बुलेटिन| LUMPY VIRUS के बाद अब ” रहस्यमयी ” की ENTRY | जयमल चंद्रा की रिपोर्ट

Share this news

सिटी लाइव टुडे, जयमल चंद्रा


यमकेश्वर क्षेत्र में आफत थमने का नाम नहीं ले रही है। लंपी वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच अब रहस्यमयी ने भी दस्तक दे दी है। इसके साथ ही ग्रामीणों की मुश्किलों में खासा इजाफा हो गया है। पिछले कुछ सालों से यह रहस्यमयी यमकेश्वर क्षेत्र के लिये सिरदर्द बना हुआ है। सर्दियों के मौसम में रहस्यमयी सक्रिय हो जाता है। सो, होने भी लगा है।

जनपद पौड़ी के यमकेश्वर क्षेत्र के दर्द की कहानी खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। आपदा के घाव अभी भरे नहीं है। आपदा के चलते सड़क, पेयजल आदि व्यवस्थायें पटरी से उतर गयी थी जो अभी भी ढर्रे पर नहीं आ पायी है। पिछले कुछ दिनों से यमकेश्वर क्षेत्र में लंपी वायरस ने दस्तक दे रखी है। पशुओं में होने वाले इस लंपी वायरस से अब तक पशुओं की मौत की भी खबरें हैं। ग्रामीणों का यह भी कहना है कि लंपी वायरस का संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है।

architect-ad


इस बीच, अब रहस्यमयी ने भी दस्तक देकर ग्रामीणों को टेंशन में डाल दिया है। दिमाग पर ज्यादा जोर मत डालिये। रहस्यमयी का रहस्य भी आपको बता देते हैं। दरअसल, यमकेश्वर क्षेत्र में अज्ञात जानवर पशुओं के लिये काल बना हुआ है। यह अज्ञात गौशालाओं के अंदर घुसकर पशुओं को मौत के घाट उतार देता है। हैरानी की बात यह है कि अब तक भी इस अज्ञात जानवर की सही जानकारी किसी के पास नहीं है। इस अज्ञात को लेकर केवल व केवल कयास व अंदाजा ही लगाया जाता है। आज तक किसी ने इस अज्ञात को देखा नहीं है। गौर करने वाली बात यह भी है कि यह रहस्यमयी सर्दियों में सक्रिय हो जाता है और गर्मियों में गायब।

ad12


मौसम बदल रहा है और सर्दियोें की दस्तक शुरू हो गयी है। सो, स्वभाव के अनुसार यह रहस्यमयी भी सक्रिय होने लगा है। खबर है कि इस रहस्यमयी ने क्षेत्र के गांव ठंठोली में गौशाला के अंदर घुसकर एक गाय व तीन बकरीयों पर हमला कर मार दिया। एक बकरी लापता है। ये पशु श्रीमती सुनीता देवी पत्नी मनोज कुमार के थे। वन विभाग को सूचित कर दिया गया है। क्षेत्र पंचायत सदस्य दिवाकर ने इलाके के सभी बुद्धिजीवी वर्ग व , शासन ,प्रशासन से उक्त परिवार की हर सम्भव मदद करने अपील की है। डर इस बात है कि सर्दी बढ़ते ही यह रहस्यमयी और ज्यादा सक्रिय हो सकता है जैसा भी होता आ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.