advertisement

प्रधानाचार्य पदों पर सीधी भर्ती के फार्मूले का विरोध|click कर जानिये किसने विरोध

Share this news

CITYLIVE TODAY. MEDIA HOUSE-HARIDWAR

प्रदेश के राजकीय इंटर कॉलेजों में प्रधानाचार्य के पदों पर सीधी भर्ती में केवल हेड मास्टर और प्रवक्ता को शामिल किए जाने को लेकर उत्तरांचल (पर्वतीय) कर्मचारी शिक्षक संगठन जनपद- हरिद्वार द्वारा विरोध दर्ज कराया गया है। संगठन का कहना है कि सरकार के इस निर्णय से एलटी कैडर के शिक्षकों के साथ अन्याय हुआ है और वे अपने आपको ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। इससे पहले समग्र शिक्षा अभियान के अंतर्गत समन्वयक के पदों की भर्ती में भी एल टी कैडर को बाहर कर दिया गया था।

architect-ad

अब प्रधानाचार्य की सीधी भर्ती में शामिल होने से एल टी शिक्षकों को रोका जा रहा है जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। मीडिया को जारी एक बयान में संगठन के जिला महामंत्री ललित मोहन जोशी का कहा कि हाई स्कूल के हेडमास्टर के पद पर एल टी और प्रवक्ता शिक्षकों की 55 और 45% के अनुपात में नियुक्तियां होती हैं। ऐसी स्थिति में प्रधानाचार्य में भी एलटी शिक्षकों को अवसर मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह नीति सरासर गलत है पर्वतीय कर्मचारी शिक्षक

ad12


संगठन के जिलाध्यक्ष के सी शर्मा ने एलटी शिक्षकों की अनदेखी पर नाराजगी व्यक्त की और कहा कि जिस प्रकार हेड मास्टर की भर्ती में एलटी और प्रवक्ता को मौका दिया जाता है वही फार्मूला प्रधानाचार्य में भी लागू होना चाहिए। सरकार की ओर से सकारात्मक निर्णय न होने की स्थिति में शीघ्र ही संगठन अपनी आगे की रणनीति तय करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.