advertisement

march-final- का ” डंडा ” है साहब| क्या दिन और क्या रात| पढ़िये पूरी खबर

Share this news

सिटी लाइव टुडे, मीडिया हाउस


इन दिनों गर्म होते मौसम में काम का बोझ खासा बढ़ा हुआ है। मार्च फाइल के डंडे ने दिन और रात को एक करके रखा है। वित्तीय संस्थाओं में इन दिनों काम का बोझ कर कदर बढ़ा है कि कई बार तो देर रात तक भी दफ्तर खुलने की मजबूरी बन बैठी है। जल्दी करो व और करो का माहौल बना हुआ है।

हाई लेबल से आये इस डंडे का असर नीचले स्तर पर भी देखने को मिल रहा है। बैंकिंग व गैर-बैकिंग वित्तीय संस्थाओं में काम का बोझ बढ़ा हुआ है। हर हाल में टारगेट पूरा करना है। सो, फाइल वर्क से लेकर फील्ड वर्क में मारामारी मची हुयी है।

architect-ad

ad12


रंगों के त्योहार होली पर भी यह बोझ कम नहीं हुआ है। हां, इतना जरूर है कि होली की छुट्टी में थोड़ा रिलेक्स जरूर मिलेगा। राहत पहुंचाने वाली खबर यह है कि होली के अगले दिन saturday है और फिर रविवार को छुट्टी है। लेकिन इसके बाद फिर वर्क-लोड ही रहेगा। मार्च के पूरे महीने काम, काम, काम और केवल काम। दूसरे words में कहें तो टारगेट हासिल करने का tension बना रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.