advertisment

“गौं-गुठ्यार” से महाराज की ” धै ” विकास चाहते हो शराब| पढ़िये पूरी खबर

Share this news

सिटी लाइव टुडे, चैाबट्याखाल
चुनावी मौसम में सियासत पूरे लय व रंगत में है। चैाबट्याखाल सीट से भाजपा प्रत्याशी सतपाल भी इन दिनों गौं-गुठ्यार हैं। शुक्रवार को भी सतपाल महाराज ने कई गांवों में जनसपंर्क कर वोट मांगे। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पर प्रहार करते हुये कहा कि विकास चाहते हो या शराब।

खराब मौसम के बीच भाजपा प्रत्याशी कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने शुक्रवार को मतदाताओं के बीच पहुंच कर भाजपा सरकार में किए गए विकास कार्यों के बारे में जानकारी देते हुए 14 फरवरी को कमल के फूल का बटन दबाने की अपील की । भाजपा प्रत्याशी कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने शुक्रवार को खराब मौसम के बावजूद वीरोंखाल मण्डल के सिल्ली मल्ली, तकुलसारी, जाखणी, ढौंर, मैठाणा घाट, बयेडा और फरसाड़ी आदि ग्रामीण क्षेत्रों में अपना जनसम्पर्क जारी रखा।

advertisment4

जनसम्पर्क के दौरान भाजपा प्रत्याशी सतपाल महाराज ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का इतिहास बलिदानियों का इतिहास रहा है, वह ऐसे लोग हैं जो इतिहास के पन्नों पर अंकित नहीं हो सके और गुमनामी में चले गए। जिन्होंने अपने सिद्धांतों और आदर्शों से कभी समझौता नहीं किया। जबकि कांग्रेस ने देश विभाजन और समाज में वैमनस्यता फैलाने के अलावा कोई दूसरा कार्य नहीं किया। उन्होंने कहा कि चुनाव को अब मात्र 10 दिन बचे हैं इन 10 दिनों में हमें तय करना है कि हम उत्तराखंड के अंदर विकास चाहते हैं या शराब? हमें तय करना है कि हम अपनी संस्कृति और संस्कारों के लिए भारतीय जनता पार्टी को वोट देकर प्रधानमंत्री मोदी के हाथों को मजबूत करना चाहते हैं या फिर देश को कमजोर बनाने वाली ताकतों आगे लाना चाहते हैं।

ad12


महाराज ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने राज्य में अनेक विकास कार्य किए हैं और उनके विधानसभा क्षेत्र में भी अनेक बड़ी-बड़ी योजनाएं स्वीकृत हुई हैं सड़कों का जाल बिछा है, लिफ्ट सिंचाई योजनाएं प्रारंभ की गई हैं। जबकि कई पंपिंग पेयजल योजनाओं की स्वीकृति मिल चुकी है। सतपुली और स्यूंसी झील जैसे बड़े प्रोजेक्टों से निश्चित ही आने वाले समय में चैबट्टाखाल विधानसभा क्षेत्र का कायाकल्प होगा। सतपाल महाराज की पत्नी और पूर्व मंत्री श्रीमती अमृता रावत ने भी आज क्षेत्रों का भ्रमण कर जनसम्पर्क किया। सतपाल महाराज के जेष्ठ पुत्र श्रद्धेय रावत और छोटे पुत्र सुयश रावत ने भी कई गावों में जनसम्पर्क कर अपने पिता के लिए वोट मांगे।
जनसंपर्क के दौरान सभी स्थानों पर भाजपा के कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी भी इस दौरान उनके साथ रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.