tanejav1

सेहत के लिये किफायती हैं प्री-बाॅयोटिक पेय पदार्थ | द्वारीखाल से जयमल चंद्रा की रिपोर्ट

adhirajv2

Share this news

सिटी लाइव टुडे, जयमल चंद्रा द्वारीखाल


प्री- बॉयोटिक पेय पदार्थ हेल्थ के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। भारतीय आयुर्वेद इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं। ये ज्यादातर फर्मेंटेड पेय पदार्थ में पाया जाता है। इस बाबत सुनील दत्त कोठारी ने उपयोगी जानकारी साझा की है। पेश है कि खास रिपोर्ट।
पेय पदार्थ को उपभोग करने से पहले कुछ दिनों तक सुरक्षित रखना 3 महीना से 9 महीना तक, एवं निर्माण विधि पूर्व दिनों के बाद पीने की प्रक्रिया फर्मेंटेशन विधि का विवरण। इस के द्वारा सामान्य रोग निदान माध्यम से कैसे हैं आप पेट, त्वचा आदि से संबंधित रोगों से बचाव के लिए इस प्रकार के पेय पदार्थ का इस्तेमाल ज्यादा से ज्यादा मात्रा में करना चाहिए।

advertisment

इस के द्वारा इम्यूनिटी बढ़ाने और उसे बरकरार रखने में फर्मेंटेड फूड का बहुत ही लाभदायक गुण पाए जाते हैं। फर्मेंटेड पेय से सेहत को होने वाले फायदे इस के दौरान आप जान पाएंगे कि कैसे ,आंतों के लिए फर्मेंटेड पेय आंतों के लिए यह उपचार विधि फायदेमंद होता है। यह न सिर्फ पाचन बल्कि कब्ज, गैस और एसिडिटी जैसी कई समस्याओं से भी कैसे दूर रखता है। फर्मेंटेड पेय में पाए जाने वाला लैक्टिक एसिड आंतों के बारे में विस्तृत जानकारी दिया जाएगा ।


इस के द्वारा विटामिन ए और सी की मात्रा लैक्टिक एसिड सिर्फ डाइजेशन को ही सही नहीं रखता, बल्कि ये बॉडी में विटामिन ए और सी की मात्रा को भी संतुलित बनाए रखता है। यह बॉडी में एंटी-ऑक्सीडेंट्स की जरूरत की पूर्ति करता है। बॉडी को डिटॉक्सिफाई, शुगर की मात्रा को कंट्रोल, कैंसर से बचाता है, न्यूट्रिएंट्स का स्रोत, इम्यूनिटी बढ़ाता है।

ads

उत्तराखंड के इतिहास में पहली बार फर्मेंटेशन विधि द्वारा बनाई गई चाय, इस विधि के द्वारा यह चाय की गुणवत्ता कई हजार गुना बढ़ जाती है, साथ ही साथ हमारी पद्धति द्वारा 88 जड़ी बूटियों का जो कि उत्तराखंड में पाई जाती हैं, उनका मिश्रण तैयार करके फर्मेंटेशन विधि द्वारा गुजर जाता है। अभी तक इस विधि का प्रयोग किसी अन्य संस्था या व्यक्ति द्वारा उत्तराखंड के परिपेक्ष में नहीं किया गया है। सुनील दत्त कोठारी का प्रयास इस तरह के नए नए प्रयोग आपके लिए प्रस्तुत करना, जो लोगों की आजीविका वर्धन तो करती ही है हमारे पित्र पूर्वजों को नए कलेवर में पेश करना आपके कार्य पद्धति का मुख्य अंग है। इस चाय का सेवन आप गर्मी मे आइस टी और विंटर में गर्म रूप में किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *