advertisement

दुनिया रूपी रंगमंच को कहा अलविदा | नहीं रहे उर्मिल थपलियाल | पढ़िये पूरी खबर

Share this news

सिटीलाइव टुडे, मीडिया हाउस


वरिष्ठ साहित्यकार, नाट्य निर्देशक, सुप्रसिद्ध व्यंग्य लेखक, रंगकर्मी एवं नए रचनाकर्मियों के मार्गदर्शक उर्मिल कुमार थपलियाल के निधन की खबर से साहित्य जगत में शोक की लहर है। उन्होंने अपने लखनऊ इंदिरा नगर स्थित निवास पर अंतिम सांस ली ।


इस के साथ ही दुनिया रूपी रंगमंच को अलविदा कह दिया । वे 79 वर्ष के थे और कुछ समय से अस्वस्थ चल रहे थे। यह खबर साहित्य,संस्कृति एवं पत्रकारिता जगत के लिए एक अपूर्णीय क्षति है। वे उमेश डोभाल स्मृति ट्रस्ट पौड़ी के से जुडे हुए थे। उर्मिल जी ट्रस्ट के साथ एक मार्गदर्शक के तौर पर हमेशा खड़े रहे व अपने स्तर से वे ट्रस्ट व समाज को दिशा प्रदान करते रहे।उमेश डोभाल स्मृति ट्रस्ट के लिए ही नहीं ये सम्पूर्ण समाज के लिए एक बहुत बड़ा नुकसान है।

architect-ad

ad12

पौड़ी गढ़वाल के युवा रंग कर्मी व सामजिक कार्यकर्ता आशीष नेगी ने उर्मिल जी को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उनकी रचनाएं आपकी यादें आपका व्यक्तित्व युवा पीढ़ी व ट्रस्ट का मार्गदर्शन करता रहेगा। उमेश डोभाल स्मृति ट्रस्ट परिवार के सभी सदस्यों ने भी उर्मिल थपलियाल को श्रद्धांजलि अर्पित की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.