advertisement

good work|खफा जरूर हैं लेकिन इनका सम्मान तो बनता ही है|ये होंगे सम्मानित | पढ़िये पूरी खबर

Share this news

सिटी लाइव टुडे, मीडिया हाउस


मांगें पूरी नहीं होने से बेहद खफा चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ चिकित्सा स्वास्थ्य सेवाएं उत्तराखंड जनपद हरिद्वार 15 अगस्त को कुछ ऐसा करने जा रही है जिसकी कमी लगातार खल रही थी। ये ऐसा कार्य है जिसकी सराहना भी होनी चाहिये और सरकार को सोचना भी चाहिये। अच्छा होता अगर ये कार्य सरकार करती तो। खैर, ये सराहनीय कार्य चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ चिकित्सा स्वास्थ्य सेवायें करने जा रही है तो इससे समाज व सरकार के बीच अच्छा व सार्थक संदेश भी पहंुंचेगा जो कि काबिलेतारीफ है।


दरअसल, चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ चिकित्सा स्वास्थ्य सेवाएं उत्तराखंड जनपद हरिद्वार ने 15 अगस्त के मौके पर
संविदा,उपनल, डॉट्स, कर्मियों, ठेका सफाई कर्मियों को ओर चतुर्थ श्रेणी कर्मियों को अपने स्तर पर सम्मानित करने का निर्णय लिया है।
संघ के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश लखेड़ा की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि प्रदेश अध्यक्ष के नेतृत्व में महेश कुमार, प्रदेश ऑडिटर, राजेन्द्र तेश्वर प्रदेश कार्यसमिति सदस्य,जिलाध्यक्ष हरिद्वार शिवनारायण सिंह जिला मंत्री राकेश भँवर, जिला ऑडिटर शीशपाल,जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष जीवन भगत की सात सदस्य समिति ने जिला चिकित्सालय, हरिद्वार, महिला चिकित्सालय, राजकीय मेला चिकित्सालय, सी एम ओ कार्यालय, टी बी, चिकित्सालय/कार्यालय से जिन कर्मचारियों ने कोविड महामारी, और सामान्य समय में अच्छा कार्य किया है उनको प्रशस्ति पत्र एवं उनको देश के तिरंगे का स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया जायेगा।

architect-ad


प्रदेश अध्यक्ष दिनेश लखेडा एवं प्रदेश ऑडिटर महेश कुमार,प्रदेश कार्यसमिति सदस्य राजेन्द्र तेश्वर, जिलाध्यक्ष शिवनारायण सिंह,जिला मंत्री राकेश भँवर ने कहा कि न ही प्रदेश और न ही जिले के अधिकारियों द्वारा कर्मचारियों को प्रोहत्साहन भत्ता दिये जाने को लेकर कोई गंम्भीर कार्यवाही की गई है ये जब है जब मुख्यमंत्री द्वारा आदेश दिए गए हैं उसके बाद भी आज तक ठेका सफाई कर्मियों, संविदा कर्मियों,राजकीय चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को प्रोहत्साहन भत्ता नही दिया गया जबकि प्रदेश के चिकित्सा अधिकारियों को 10,000 रुपये प्रोहत्साहन भत्ते के रूप में दिये जा चुके हैं किन्तु संविदा, ठेका सफाई कर्मियों, चतुर्थ श्रेणी कर्मियों को प्रोहत्साहन भत्ता देने के लिए बजट की कमी हो गई है जो कि दुःखद है कर्मचारियों के साथ अन्याय है।

ad12


कर्मचारी नेताओं ने बताया कि इसलिये संघ ने कर्मियों के मनोबल को बढ़ाने के लिए जिन कर्मियों ने कोविड महामारी और सामान्य काल में रोगियों की सेवा निस्वार्थ भाव से की है उनको संघ 75 वें स्वंत्रतता दिवस पर सम्मनित करेगा और मुख्यमंत्री से कर्मचारियों के लिये प्रोहत्साहन भत्ता दिलाने हेतु न्याय की अपील करेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.