advertisement

यहां फिर बहेगी धर्म की धरा पर पुण्य की ज्ञान सरिता| जयमल चंद्रा की रिपोर्ट

Share this news

सिटी लाइव टुडे, जयमल चंद्रा, द्वारीखाल
देवभूमि उत्तराखंड अपनी प्राकृतिक सौन्दर्य के लिए ही नहीं बल्कि अपने आध्यात्म,भक्ति व आस्था के लिए भी अद्वितीय स्थान रखता है।यहां अनेको सिद्धपीठों व मंदिरों में भक्ति व आस्था का दीप प्रज्वलित होता है। इसी क्रम मे द्वारीखाल ब्लॉक के पट्टी डबरालस्यूं के सौड़ गांव में 11 जून से भागवतकथा का आयोजन व मिलन समारोह बड़े धूमधाम से मनाया जाएगा।


द्वारीखाल ब्लॉक के सौड़ गांव में सिद्ध सिद्धेश्वर महादेव मंदिर में युवा शक्ति द्वारा प्रत्येक वर्ष की तरह इस बार 11 जून से 17 जून तक मिलन समारोह एवं भागवत कथा का आयोजन किया जा रहा है।प्रतिदिन पूजा-अर्चना के बाद पंडितो द्वारा भागवत कथा वाचन होगा। सभी सातों दिन विशाल भंडारा भी चलता रहेगा।युवाओं द्वारा प्रवासियों को गांव से जोड़ने के लिए प्रत्येक वर्ष यह कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी रैवासी व प्रवासी भक्ति में बिभोर होकर परम्परागत रूप से इस सिद्धपीठ में भक्ति की अलख जगाने को दूर-दूर प्रदेशो से यहां पहुँच रहे है।

सिद्धपीठ मंदिर सौड़ आयोजन समिति के सदस्य गौरव सुयाल ने जानकारी देते हुए बताया कि इस सिद्धपीठ में प्रतिवर्ष रैवासी व प्रवासी अध्यात्म व भक्ति के रंग में रंगने एकत्र होते हैं। इस आयोजन में शामिल होने वाले रैवासियों व प्रवासियों की मनोकामना पूर्ण होती है। भागवत कथा व्यास श्री भारत भूषण डबराल व अन्य पंडितो द्वारा की जाएगी। आयोजन समिति द्वारा सभी श्रदालु भक्तजनों को सादर आमंत्रित किया है।

ad12

architect-ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.