advertisement

जीवन जीने की कला सिखाता है योग| आज से ही शुरू करें| पढ़िये पूरी खबर

Share this news

सिटी लाइव टुडे, कोटद्वार


गढ़वाल के प्रवेश द्वार कोटद्वार स्थित एसडीकेडी एजुकेशनल एकेडमी कोटद्वार में आयोजित कार्यशाला में योग के बाबत उपयोगी जानकारी साझा की गयी। योगाचार्य अनुपम कोठारी ने स्कूली छात्र-छात्राओं के साथ ही शिक्षकों को भी योग की जानकारी देने के साथ ही विभिन्न मुद्राओं का अभ्यास भी कराया।

कोटद्वार के लालपुर क्षेत्र में स्थित एसडीकेडी एजुकेशनल एकेडमी में आयोजित योग संबंधी कार्यशाला में योगाचार्य अनुपम कोठारी ने कहा कि योग जीवन जीने की कला है। योग से ही संपूर्ण व्यक्तित्व का विकास संभव है। उन्होंने कहा कि शारीरकि, मानसिक व आध्यात्मिक शक्तियों को जागृत करने में योग रामबाण का काम करता है। योगाचार्य अनुपम ने बताया कि योग हमारी प्राचीन संस्कृति का अभिन्न अंग है। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को योग अनिवार्य रूप से करना चाहिये। उन्होंने कहा कि जब किसी समस्या के समाधान के सारे भौतिक प्रयास काम नहीं करते हैं वहां योग अचूक अस्त्र के रूप में काम करता है।

architect-ad

ad12


एसडीकेडी एजुकेशनल एकेडमी के एमडी विमल ध्यानी ने कहा कि स्कूल में जल्द ही योग की कक्षायें भी शुरू की जायेंगी। उन्होंने कहा कि योग बहुत जरूरी है और यह हमारी प्राचीन धरोहर है। कहा कि आज सात समंदर पार भी योग का क्रेज सिर चढ़कर बोल रहा है। इस अवसर पर प्रिसिंपल सुमन मैंदोला, रेनू ध्यानी, जयंती थपलियाल, सुमित सिंह, पूजन मैंदोला आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.