advertisement

वादे के पक्के निकले CAPTAIN साहब| भगवा रंग में रंगे| जगमोहन डांगी की रिपोर्ट

Share this news

सिटी लाइव टुडे, जगमोहन डांगी, पौड़ी गढ़वाल


जिस अनुशासन में तपकर व सेना में रहकर देश की सेवा की, वह अनुशासन रिटायर्ड होने के बाद बरकरार है। यूं कहें कि रिटायर्ड हुये हैं टायर्ड नहीं। रिटायर्ड होने के बाद राजकुमार पोरी से जो वादा जिस शर्त के साथ किया था वह शर्त पूरी हुयी तो CAPTAIN साहब ने वायदा पूरा करते हुये भाजपा ज्वाइन कर दी।


अब आपको CAPTAIN साहब के बारे में भी बताते हैं और वायदे के विषय में भी। दरअसल, कल्जीखाल विकास खण्ड के अंर्तगत ग्राम प्रधान थनुल एवं अमटोला निवासी पूर्व ऑनरी CAPTAIN नरेन्द्र सिंह नेगी विधिवत भाजपा के हो गए। कुछ रोज पहले न्याय पंचायत पंचाली(बनेख) में उन्होंने कहा था कि यदि भाजपा राजकुमार पोरी अपना प्रत्याशी बनाती है तो भाजपा के हो जाएंगे।
राजकुमार पोरी को भाजपा ने पौड़ी सुरक्षित सीट सेे पार्टी प्रत्याशी घोषित किया तो CAPTAIN साहब ने भी वायदा पूरा किया।
CAPTAIN साहब की राजकुमार पोरी से पहली मुलाकात सावन के माह थानेश्वर महादेव मन्दिर में अंतिम सोमबार को दर्शन करने के दौरान हुयी थी। यहीं से मिठास घुलती गयी और नजदीकियां भी बनती गयीं। CAPTAIN नेगी के पिताजी बीडीसी सदस्य स्वर्गीय श्रीचन्द्र सिंह नेगी 90 के दशक में कल्जीखाल मण्डल के अध्यक्ष अमर सिंह रावत जी के साथ मण्डल उपाध्यक्ष हुआ करते थे। उस दौरान जिला महामंत्री रमेश रावत के करीबी होते थे। उस दौर में भाजपा संगठन गिने चुने पदाधिकारी होते थे। उनके पदचिन्हों पर चलकर उन्होंने प्रधान के रूप में जनसेवा करने की शुरूआत की और आज एक राजनैतिक दल का हिस्सा बन गए। उनका स्वागत भाजपा मंडल अध्यक्ष अशोक डुकलानं ने गर्मजोशी फूलमालाओं से किया सभी कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार अभिनंदन किया साथ ही उन्होंने बताया की उनके भाजपा परिवार में आने से भाजपा को लाभ होगा वह क्षेत्र के पूर्व सैनिक संगठन एवं प्रधान संगठन के संरक्षक भी हैं। वह समाजिक क्षेत्र में लगातार सक्रिय बने रहते हैं। उनकी हाल में श्रीनगर में प्रधानों के साथ मुख्यमंत्री की जनसंवाद कार्यक्रम उनकी युवा मुख्यमंत्री से मुलाकत भी हुई। उनकी क्षेत्र की मूलभूत समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री से बातचीत सकारात्मक रही। वर्तमान मण्डल अध्यक्ष अशोक डुकलानं ने बताया वह उन्हें भाजपा में शामिल करने स्वयं पूर्व में उनके घर अमटोला गए थे। डुकलान उनके पिताजी के साथ पहले कई बार उनके घर जा चुके हैं। हाल में डुकलानं चोटिल होने पर उनका हालचाल जानने नेगी देहरादून जॉली ग्रांट अस्पताल भी गए थे। ऐसे में उनका लगाव औऱ प्रयासों से उन्हें भाजपा में शामिल करने में कायम हो गए।

ad12

architect-ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.