advertisement

लालढांग में भी गेंद मेला, मिली नई पहचान, पढ़िये पूरी खबर

Share this news

लालढांग में 2015 से आयोजित होता है गेंद मेला
सिटी लाइव टुडे, अनिल शर्मा


गढ़वाल क्षेत्र के ऐतिहासिक गेंद मेले की तरह का आयोजन अब हरिद्वार जनपद में भी होने लगा है। पहाड़ से यहां बसे लोगों की अपनी पारंपरिक धरोहर को विस्तार देने की सोच ने यहां भी गेंद मेले के आयोजन को जन्म दिया है। हरिद्वार के लालढांग क्षेत्र में 2015 से हर साल मकर संक्रांति पर गेंद मेला आयोजित होता आ रहा है। इससे लालढांग क्षेत्र को नई पहचान भी मिली है।


गेंद मेला समिति के अध्यक्ष सचिन रावत बताते हैं कि गेंद मेले की जन्म स्थली जनपद पौड़ी के दुगड्डा ब्लाक की थलनदी है। यहां हर साल मकर संक्रांति के दिन ऐतिहासिक गेंद मेला का आयोजन होता है। उन्होंने बताया कि इस क्षेत्र से बहुंत लोग आकर यहां लालढांग बसे हुये हैं। बडे़-बुजुर्गों से सलाह-मशविरा करने के बाद तय किया कि लालढांग मेें भी अपनी ऐतिहासिक परंपरा को संजोया जाये और फिर 2015 में पहली बार लालढांग में गेंद मेला आयोजित हुआ। इसके बाद हर साल मकर संक्रांति को लालढांग में गेंद मेला आयोजित होता है। हालांकि, पिछले साल कोविड-संक्रमण के चलते मेले को लघु व सांकेतिक रूप से ही किया गया था। सोसल डिस्टेंसिंग समेत अन्य नियमों का पालन करते हुये पिछले साल गेंद पूजन कर सुख-समृद्धि की कामना की गयी थी।

architect-ad

मेला समिति के अध्यक्ष सचिन रावत बताते हैं कि रवासन नदी पर काली मंदिर के पास यहां गेंद मेला होता है। रवासन नदी के इस तरफ और उस तरफ के लोगों के बीच गेंद को हासिल करने की प्रतिस्पद्र्धा होेती है। इससे पहले गंेद का पूजन किया जाता है और निशांण यानि झंडा शिव मंदिर से जयकारों व जयघोषों के साथ आयोेजन स्थल तक पहुंचता है। ऐसा ही दूसरे पक्ष की ओर भी किया जाता है।

ad12

सांस्कृतिक आयोजन भी होते हैं
लालढांग में आयोजित होने वाले गेंद मेले में पहाड़ की समृद्धशाली संस्कृति के साक्षात दर्शन भी होते हैं। मकर संक्रांति से एक-दो दिन पहले सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किये जाते हैं। संस्कृति विभाग की ओर से सांस्कृतिक टीम यहां भेजी जाती है। इसके अलावा आस-पास के स्कूली बच्चों की खेलकूद व गीत-संगीत प्रतियोगिता भी आयोजित होती है। यह गेंद मेला लालढांग क्षेत्र को नई पहचान दिया रहा है और पहाड़ की ऐतिहासिक धरोहर का विस्तार भी कर रहा है। राकेश नेगी, रणवीर नेगी, अनिल शर्मा, कमलेश द्विवेदी, प्रताप लिंगवाल, मायादत्त डबराल, संजय नेगी, दीपक नेगी, सुरेंद्र रावत, नवीन चमोली आदि आयोजन से जुडे़ हुये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.