advertisement

गजब है जी| पिन कोर्ड ” नजीबाबाद ” का और डाकखाना ” लालढांग ” में| राहुल सिंह की रिपोर्ट

Share this news

सिटी लाइव टुडे, मीडिया हाउस-राहुल सिंह, लालढांग


सिस्टम की बेरूखी कहिये या कुछ और। लेकिन हाल-बेहाल है। इसका ज्वलंत उदाहरण लालढांग डाकखाना स्वयं है। आलम यह है कि लालढांग स्थित डाकखाने का पिन कोड अभी भी उत्तर-प्रदेश के नजीबाबाद के नाम से है। जिसके चलते देशभर से आने वाले डाक एकत्रित करने के लिये नजीबाबाद डाकखाना जाना पड़ता है। यही नहीं, आधार कार्ड में भी नजीबाबाद का ही पिन कोर्ड दर्ज है। ऐसे में ग्रामीणोें को कई प्रकार की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।


हरिद्वार जनपद के अंतर्गत आने वाले लालढांग, मीठीबेरी और गैंडीखाता के ग्रामीणों को सेवायें प्रदान करने वाले डाकघर अभी भी नजीबाबाद के अंतर्गत आते हैं। नतीजतन, ग्रामीणों को दिक्कतों से दो-चार होना पड़ रहा है। पिन कोड नजीबाबाद का होने के चलते इनके आधार कार्ड में भी नजीबाबाद का ही पिन कोर्ड 246763 अंकित है। जिसके चलते पासपोर्ट भी नहीं बनाये जाते हैं।

architect-ad

ad12


लालढांग स्थित एसबीआई में खाता खुलवाने के लिये काफी दुश्वारियों से दो-चार होना पड़ता है। सिस्टम की बेरूखी व लापरवाही के चलते स्थानीय लोग आन-लाइन सामान भी नहीं मंगवा पाते हैं। यदि आन-लाइन आर्डर बुक कर भी दिया तो डिलीवरी को नजीबाबाद जाना पड़ता है। आधार कार्ड में भी नजीबाबाद को पिन कोर्ड अंकित होने के चलते बैंकों से लोन लेने में भी दिक्कतें ही दिक्कतें हैं। इस संबंध में डाकघर प्रशासन का कहना है कि यह व्यवस्था पहले से ही चली आ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.